ऐतिहासिक घटनाएंगोपालगंजताजा ख़बरेंबड़ी ख़बरेंबिहारब्रेकिंग न्यूजराज्यराष्ट्रीयविश्वशिक्षा

14 सितंबर विश्व हिंदी दिवस पर विशेष हिंदी भाषा पर आलेख- ऋचा कुशवाहा

14 सितंबर विश्व हिंदी दिवस पर विशेष हिंदी भाषा पर आलेख- ऋचा कुशवाहा
गोपालगंज बिहार
हिंदी भाषा हमारे हिंदुस्तान की मातृभाषा हैं। हिंदी भाषा ही हमारे भारत का विश्व में पहचान कराती हैं। हिंदी सहज और सरल भाषा है। हिंदी जैसे बोली जाती हैं, वैसे ही लिखी जाती हैं। हिंदी में आपतिजनक बाते नहीं होती हैं। हिंदी बोलना अच्छा लगता है। हिंदुस्तान से हिंदी भाषा कभी मिटने न पाएं। हम भारतिय मिलकर संकल्प ले। पूरे विश्व में 5000 भाषा में से हिंदी चौथे नंबर पर हैं। हिंदी पूरी दुनियां में आमतौर पर सबसे अधिक बोली जाती हैं। हिंदी भाषा को पूरे विश्व में 80 करोड़ लोग समझते हैं। हिंदी भाषा को विश्व में 508 मिलियन लोग इस्तेेमाल करते हैं। हिंदी हमारी प्रिय भाषा हैं और हमारे हिंदुस्तान की पहचान दिलाती हैं।

2021-02-24
2021-04-07
2021-02-27 (1)
2021-02-27
2021-03-10
2021-03-10 (2)
2021-03-10 (1)
2021-04-09
2021-04-26 (8)
per

हिंदी भाषा का आविष्कार आमिर खुसरों ने किया था। हिंदी का प्रचलन सदियों से चला आ रहा हैं। विश्व हिंदी दिवस 14 सितंबर को मनाया जाता हैं। आधुनिक हिंदी के जनक भारतेंदु हरिश्चंद्र को अपनी भाषा से लगाव था। सौ साल में हिंदी का बहुत विकास हुआ हैं।

हिंदी भाषा का इतिहास लगभग एक हजार वर्ष पुराना माना गया हैं। पूरे देश के लोग अपनी वाणी को जन- जन तक पहुंचाने के लिए हिंदी का सहारा लेते हैं।

भारत के स्वतंत्रता संग्राम में हिंदी पत्र-पत्रकारिता की अहम भूमिका रहीं हैं। भारत के स्वतंत्र होने के बाद 14 सितंबर 1949 को हिंदी को भारत की राज्यभाषा घोषित कर दिया गया। हिंदी विश्व की लगभग 3000 भाषाओं में से एक हैं।हिंदी भाषा हिंदी की जननी हैं, साहित्य की गरिमा, जन-जन की भाषा हैं। जिस रफ्तार से भारत में इंटरनेट का विकास हुआ हैं, उसी रफ्तार से हिंदी भी इंटरनेट पर छाई रहीं हैं।हिंदी समाचार पत्र से लेकर हिंदी ब्लॉग तक अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहीं हैं।

1
2
3

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close