उत्तर प्रदेशताजा ख़बरेंदेशपंजाबब्रेकिंग न्यूजराजनीतिराज्यराष्ट्रीय

किसी भी अपराधिक मामले में वांछित किसी भी राजनीतिक दल के उम्मीदवार को चुनाव लड़ने की अनुमति पर रोक लगाई जाए-  एके बिंदुसार

ब्यूरोचीफ रवि कान्त साहू की रिपोर्ट

किसी भी अपराधिक मामले में वांछित किसी भी राजनीतिक दल के उम्मीदवार को चुनाव लड़ने की अनुमति पर रोक लगाई जाए-  एके बिंदुसार

IMG-20230731-WA0012
God grace school bhore gopalganj

IMG-20231017-WA0059
IMG-20240210-WA0001
IMG-20231211-WA0000
2021-02-27

नई दिल्ली-भारतीय मीडिया फाउंडेशन नई दिल्ली स्थित राष्ट्रीय कार्यालय से जारी बयान में भारतीय मीडिया फाउंडेशन के संस्थापक एके बिंदुसार ने मुख्य निर्वाचन आयोग भारत सरकार से मांग करते हुए कहा कि जिस तरीके से प्रशासनिक अधिकारियों के चयन में एक छोटे से मुकदमे को विचाराधीन मुकदमा का आधार बनाकर उनके नियुक्ति पर रोक लगाई जाती है।

IMG-20231017-WA0059
Competition Coaching 9x4=1 copy.jpg221
FB_IMG_1703555643579

ठीक उसी तरह राजनीतिक क्षेत्र में लोकसभा या विधानसभा के उम्मीदवारों के ऊपर भी अगर किसी भी प्रकार का मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन है तो ऐसे लोगों को चुनाव लड़ने पर रोक लगाई जानी चाहिए।

जिससे राजनीति में अपराधीकरण को समाप्त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि विधायिका में चयन उन लोगों का होना चाहिए जो पूरी तरह से स्वच्छ हो तभी समाज में एक बड़े बदलाव का कल्पना किया जा सकता है।
उन्होंने कहा कि कानून निर्माता अगर अपराधी किस्म के होंगे तो वह जनता के साथ न्याय नहीं कर पाएंगे। आईएएस पीसीएस आदि कई ऐसे प्रशासनिक पद हैं जिसके चयन में विचाराधीन मुकदमों को आधार बनाकर उनके चयन पर रोक लगाई जाती है वहीं दूसरी ओर जनता का प्रतिनिधित्व करने वाले सांसद विधायक अपराधी प्रवृत्ति के होते हैं उनके ऊपर कई कई मुकदमें विचाराधीन होते हैं लेकिन उनके चुनाव लड़ने में कोई रोक नहीं लगाई जाती हैं ऐसा कोई नीति निर्वाचन आयोग भारत सरकार के पास नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि कम से कम एक नीति बननी चाहिए गंभीर मामलों में वांछित अगर व्यक्ति का मुकदमा विचाराधीन है तो उनके नामांकन को अवैध घोषित कर दिया जाएं।

ब्यूरोचीफ रवि कान्त साहू की रिपोर्ट

IMG-20230731-WA0012
3
Back to top button
error: Content is protected !!