ताजा ख़बरेंदेशबड़ी ख़बरेंब्रेकिंग न्यूज

अमेरिकी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ. विश्व नाथ मौर्य को मिला ग्लोबल पीस अवार्ड

अमेरिकी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ. विश्व नाथ मौर्य को मिला ग्लोबल पीस अवार्ड

God grace school bhore gopalganj
IMG-20221120-WA0020
The infinity classes
Sanam computer cctv camera

चार्टर्ड इंटरनेशनल दा विंसी यूनिवर्सिटी, डेलावारे, यूएसए के कुलपति प्रोफेसर डॉ. विश्व नाथ मौर्य को वर्ष 2022 के लिए ग्लोबल पीस अवार्ड (Global Peace Award) से सम्मानित किया गया है। मिनिस्ट्री ऑफ स्माल स्केल इंडस्ट्रीज, भारत सरकार के कोलाबोरेशन (पार्टनरशिप) में नई दिल्ली के एडविशन (EdVishan) की ओर से शीर्ष अमेरिकी एशियाई प्रतिष्ठित कुलपति प्रो. विश्व नाथ मौर्य (Top Asian American Distinguished Vice Chancellor Professor Emeritus Dr. Vishwa Nath Maurya ) को वैश्विक स्तर पर उत्कृष्ट शिक्षा और शोध के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय विकास कार्यों एवं कम्युनिटी सर्विसेज में महत्वपूर्ण योगदान को दृष्टिगत रखते हुए ग्लोबल पीस अवार्ड (Global Peace Award) से सम्मानित किया गया है। भारत के अलावा विश्व के नेपाल,भूटान,बंलादेश,नाइजीरिया, घाना , पेरिस, यूके, यूएसए समेत अन्य कई देशों के 300 चुनिंदा लोगों को उनके सामाजिक संरचनात्मक कार्यों में महत्वपूर्ण योगदान के लिए ग्लोबल पीस अवार्ड दिया गया है। क्राउन यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल,सांता क्रुज,अर्जेंटीना (साउथ अमेरिका) के कुलपति, यूनेस्को लॉरिएट, प्रो. डॉ. बशीरू अरेम्यू (Crown University International Vice Chancellor, UNESCO Laureate Prof. Dr. Bashiru Aremu) उक्त ग्लोबल पीस अवार्ड प्रोग्राम के चीफ गेस्ट ऑफ ऑनर के तौर पर आमंत्रित किए गए थे।

IMG_20221024_173439
2021-02-27

चार्टर्ड इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी, यूएसए और पार्टनरशिप में सरकारी एवं निजी विश्वविद्यालयों के बतौर प्रशासनिक एवं एक्जीक्यूटिव वाइस चांसलर प्रो. विश्व नाथ मौर्य (Executive Vice Chancellor Professor Emeritus Dr.Vishwa Nath Maurya) को इसके पहले भी बेस्ट वाइस चांसलर अवार्ड, भारत गौरव ,राष्ट्रीय शिक्षा रत्न, डॉ.एपीजे अब्दुल कलाम एक्सीलेंस अवार्ड, कोहिनूर पर्सनैलिटी ऑफ एशिया, सैल्यूट टॉप मोस्ट नोटेबल एजुकेशनल लीडर एंड डिस्टिंग्विश प्रोफेसर ऑफ 21 सेंचुरी समेत दर्जनों ग्लोबल अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। भारत मूल के उत्तर प्रदेश के राजधानी शहर लखनऊ निवासी प्रो. विश्व नाथ मौर्य देश – विदेश के कई प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में प्रोफेसर होने के अलावा विभागाध्यक्ष, डीन, डायरेक्टर, परीक्षा नियंत्रक, प्रो- वाइस चांसलर और एक्जीक्यूटिव वाइस चांसलर (वीसी से हायर रैंक ) कैसे महत्वपूर्ण प्रशासनिक पदों पर निष्ठा और सक्रियता के साथ विगत 26 वर्षों से सेवारत रही हैं। चार्टर्ड इंटरनेशनल दा विंसी यूनिवर्सिटी में एक्जीक्यूटिव वाइस चांसलर नियुक्त होने के पहले से प्रो. वी. एन. मौर्य वेस्ट कोस्ट इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ साइंसेज, टेक्नोलॉजी, मैनेजमेंट एंड आर्ट्स, डेलावारे/वॉशिंगटन, यूएसए के प्रो – वाइस चांसलर रहे हैं।

IMG-20220415-WA0041
IMG-20220905-WA0013

वीसी प्रो. विश्व नाथ मौर्य को करीब एक माह पहले ही चार्टर्ड इनर्नेशनल दा विंसी यूनिवर्सिटी यूएसए (Chartered International Da Vinci University, Delaware, USA) के एक्जीक्यूटिव वाइस चांसलर के पद पर नियुक्त किया गया था और अब तक के एक माह के अल्पकाल में ही उन्होंने बतौर प्रशासनिक एवं एक्जीक्यूटिव वीसी बुल्देलखंड विश्वविद्यालय, झांसी (उत्तर प्रदेश); डी.वाई. पाटिल विश्वविद्यालय पुणे (महाराष्ट्र) और देश भगत विश्वविद्यालय, मंडी गोबिंदगढ़ (पंजाब ) समेत NAAC accredited कई विश्वविद्यालयों से तीन अमेरिकी विश्वविद्यालयों के साथ एमओयू एग्रीमेंट के तहत अकादेमिक और रिसर्च कोलाबोरेशन किया है जिससे अब भारतीय छात्र, छात्राओं और प्राध्यापकों को अमेरिकी विश्वविद्यालयों से भी गुणवत्तापूर्ण उच्च शिक्षा एवं शोध करने का अवसर मिल सकेगा। इसके पहले अप्रैल 2021 में मदर टेरेसा वूमेंस यूनिवर्सिटी, चेन्नई (तमिलनाडु) और भारत डीम्ड विश्वविद्यालय (राजस्थान) का एमओयू एग्रीमेंट के अंतर्गत कोलाबोरेशन रहा है और ये सभी विश्वविद्यालय यूजीसी नई दिल्ली के राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (National Assessment and Accreditation Council) से एक्रेडिटेड हैं। ऐसे में भारतीय छात्र और छात्राओं को देश और विदेश के ग्लोबली एक्सेडिटेड अमेरिकन इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा हासिल करने और उत्कृष्ट शोध करने का सुनहरा अवसर मिलेगा जो वैश्विक स्तर से जुड़े महत्वपूर्ण विकास कार्य के दिशा में वीसी प्रो. विश्व नाथ मौर्य के कुशल नेतृत्व में लिए गए निर्णय से संभव हो सका है।

चार्टर्ड इंटरनेशनल दा विंसी यूनिवर्सिटी यूएसए के एक्जीक्यूटिव वाइस चांसलर प्रो. डॉ. विश्व नाथ मौर्य (Distinguished Executive Vice Chancellor Professor Emeritus Dr. Vishwa Nath Maurya) विश्व प्रसिद्ध मौर्य साम्राज्य/ मौर्य वंशज (The Great Maurya Dynasty) के प्रथम महान शिक्षाविद् हैं जिन्होंने देश -विदेश के कई प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों से गणितीय एवं सांख्यिकी विज्ञान, मैनेजमेंट साइंस, ऑपरेशनल रिसर्च एवं इंडस्ट्रियल टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर साइंस, डाटा साइंस एवं इंजीनियरिंग जैसे महत्वपूर्ण विषयों में एम.एस -सी.,एमबीए, एम टेक.,पी -एच. डी., डी.लिट.,डी -एस.सी.(यूएसए) की उपाधि अर्जित किया है और देश-विदेश के कई प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में शीर्ष पदों पर विगत 26 वर्ष से सेवारत होकर वैश्विक स्तर पर उत्कृष्ट शिक्षा और शोध के क्षेत्र मे महत्वपूर्ण योगदान कर रहे हैं।

चार्टर्ड इंटरनेशनल दा बिंसी यूनिवर्सिटी (CIDVU), यूएसए के वर्तमान कुलपति प्रो. विश्व नाथ मौर्य को अमेरिकी एशियाई विश्वविद्यालयों और अंतर्राष्ट्रीय संगठनों से डिस्टिंग्विश यूनिवर्सिटी प्रोफेसर एवं बेस्ट वाइस चांसलर (Distinguished University Professor and Best Vice Chancellor) के पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया है। वैश्विक स्तर पर उनके सराहनीय विकास कार्यों और कुशल नेतृत्व के लिए पेरिस स्थित अंतरराष्ट्रीय संगठन यूनेस्को (UNESCO) के अधिकारियों समेत क्राउन यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल चार्टर्ड, सांता क्रुज, अर्जेंटीना (साउथ अमेरिका) के वाइस चांसलर, यूनेस्को लॉरिएट, प्रो. डॉ. बशीरु अरेम्यू (CUICI Vice Chancellor , UNESCO Laureate, Prof Dr.. Bashiru Aremu) ने भी कई बार अमेरिकी और अफ्रीकी मीडिया चैनल्स के जरिए वीसी प्रो. वी एन मौर्य के उल्लेखनीय उपलब्धियों को अवगत कराते हुए प्रसंशा किया है।

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के प्रख्यात अमेरिकी एशियाई प्रोफेसर होने के साथ वीसी प्रो. विश्व नाथ मौर्य विश्व कल्याण एवं शान्ति की दिशा में भी गहन अभिरुचि रखते हैं और इसके लिए वह विज्ञान एवं तकनीकी के प्रचार – प्रसार के अलावा मानवता, उदारता, जागरूकता और मानवाधिकार के बढ़ावा को लेकर निरंतर प्रयासरत रहे हैं। उन्होंने विश्व – शांति के लिए जातीय भेदभाव और धार्मिक उन्माद फैलाने वाले राजनेताओं को विशेष रूप से जिम्मेदार ठहराया है और इसके उपचार के लिए उन्होंने जन – जन को शिक्षित और जागरूक करने के लिए विश्व के बुद्धिजीवियों को आगे आने के लिए आह्वान किया है। उन्होंने स्पष्ट रूप से लोगों को चेताया कि वैश्विक विकास और शांति के लिए सभी देशों के सरकारें उदारता की नीति अपनाएं और परस्पर मिलजुल कर एक दूसरे का भरपूर सहयोग करें। हाल ही में गुजरात स्टेट ह्यूमन राइट्स कमीशन के द्वारा स्पॉन्डर्ड कर्णावती विश्वविद्यालय, गुआरत में दिनांक 27 अगस्त 2022 को आयोजित एक इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस (IICHR-2022) में उक्त सीआईडीवीयू अमेरिकी अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय के एक्जीक्यूटिव वीसी प्रो. विश्व नाथ मौर्य ने अपने इंटरनेशनल पीएच.डी.शोध -छात्र इंजीनियर केन्नी ओडूघेमी ( Er. Kenny Odugbemi) के सुपरवाइजर और मेंटर ऑथर के तौर पर दो शोध – पत्रों “Contributoon to Impact of COVID-19 and Sustainable Approach in Africa” और “A Statistical Study on Impact of COVID-19 Pandemic on Quality of Education in Nigeria” को ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए प्रेजेंट किया था जिसमें उन्होंने मानवीय कर्तव्यों और अधिकारों पर भी प्रकाश डालते हुए वैश्विक विकास एवं शान्ति के लिए इसे आवश्यक बताया था।

3
Back to top button
error: Content is protected !!